हाईकोर्ट के आदेश पर नाबालिक का हुआ गर्भपात

हाईकोर्ट के आदेश पर नाबालिक का हुआ गर्भपात

टीकमगढ़ हाईकोर्ट के आदेश पर जिला चिकित्सालय में किया गया नाबालिक का गर्भपात चंदेरा पुलिस द्वारा बरती गई थी दस्तयाब के समय लापरवाही जिले के पुलिस थाना चंदेराl के अंतर्गत 22 नवंबर को एक नाबालिग का अपहरण हो गया था जिसको पुलिस ने 23 जनवरी 21 को दस्तयाब किया था पुलिस द्वारा न्यायालय में 164 के बयान कराए गए थे लेकिन लापरवाही बरती गई और उसका मेडिकल परीक्षण नहीं कराया गया इसके बाद परिजनों द्वारा आपत्ति जताई गई और अधिवक्ता बॉबी यादव द्वारा एडीजे कोर्ट में 27 जनवरी को आवेदन देकर मेडिकल परीक्षण कराए जाने की मांग की गई जिस पर एडीजे कोर्ट द्वारा चंदेरा पुलिस थाना प्रभारी को मेडिकल परीक्षण कराने के आदेश दिए लेकिन इस मेडिकल परीक्षण से परिजन संतुष्ट नहीं हुए और 9 फरवरी 2021 को अधिवक्ता बॉबी यादव द्वारा हाईकोर्ट में तर्क दिया गया कि नाबालिक गर्व से है और सामाजिक जीवन जीने के लिए उसका गर्भपात कराना जरूरी है जिस पर हाईकोर्ट ने 26 फरवरी को आदेश जारी करते हुए टीकमगढ़ पुलिस अधीक्षक और जिले के सीएमएचओ को आदेशित किया कि एक मेडिकल टीम द्वारा नाबालिक का गर्भपात कराया जाए जिस पर टीकमगढ़ जिला चिकित्सालय में बुधवार की दोपहर नाबालिक का गर्भपात कराया गया वरिष्ठ अधिवक्ता बॉबी यादव का कहना है कि अभी चंदेरा पुलिस द्वारा दुष्कर्म का मामला दर्ज नहीं किया गया है जबकि नाबालिक प्रेग्नेंट थी और उसका जिला चिकित्सालय में गर्भपात किया गया है बाइट …….बॉबी यादव वरिष्ठ अधिवक्ता जतारा

टीकमगढ़ ताजा खबर