रोजगार सहायक पर राशि निकालने का आरोप

रोजगार सहायक पर राशि निकालने का आरोप

बालकिशन प्रजापति जतारा (टीकमगढ)

जनपद पंचायत जतारा की ग्राम पंचायत रामगढ़ के सरपंच रोजगार सहायक पर गंभीर आरोप लगाए और मनमानी कर राशि निकाल जाने का आरोप लगाया है बताते चलें कि
जहां एक और विगत कुछ दिनों से सभी पंचायतों में सब प्रकार के कार्य बंद चल रहे थे वही लॉक डाउन खुलते ही मनरेगा के तहत पंचायतों में कार्य प्रारंभ हो गए हैं वहीं उक्त मामला ग्राम पंचायत रामगढ़ का है जहां सरपंच रामस्वरूप बाल्मिक का आरोप है की रोजगार सहायक के द्वारा बिना सरपंच की सहमति के एवं बिना सरपंच की कोई जानकारी के मनरेगा का पैसा निकाल लिया जाता है एवं मनमाने ढंग से पंचायत में कार्य कराया जाता है वहीं सरपंच का आरोप है बिना सरपंच के हस्ताक्षर के पंचायत में कोई भी काम नहीं होते हैं मगर रोजगार सहायक मनमाने ढंग से पंचायत में कार्य करा रहे हैं सरपंच का आरोप है की रोजगार सहायक द्वारा रोजगार गारंटी एवं मनरेगा की राशि बिना सरपंच की सहमति के बिना हस्ताक्षर के निकालकर मनमाने ढंग से कार्य करा रहे हैं वहीं सरपंच ने कलेक्टर से शपथ पत्र के माध्यम से मांग की है कि रोजगार सहायक को हटाकर किसी और रोजगार सहायक ग्राम पंचायत में पदस्थ किया जाए वही सरपंच का कहना है की रोजगार सहायक को हटाकर अन्य किसी रोजगार सहायक को पदस्थ करवाया जाए जिससे हमारी ग्राम पंचायत का विकास हो सके एवं रोजगार सहायक के विरुद्ध जांच कर वैधानिक कार्यवाही की जाए अन्यथा सरपंच का इस्तीफा स्वीकार किया जाए

क्या कहते है अधिकारी
जिला पंचायत के सीईओ हर्षल पंचोली ने बताया कि
पहली बात तो ये की किसी भी पंचायत में बिना सरपंच के हस्ताक्षर के बिना कोई भी रोजगार सहायक पैसा नही निकाल सकता है दूसरी बात ये है अगर कोई रोजगार सहायक ऐसा करता है तो जनपद पंचायत की जानकारी के बिना नही कर सकता और अगर फिर भी किसी ने इसे भी पास किया है तो जांच कर कार्यवाही की जाएगी

क्या कहते जनपद सीईओ
जनपद पंचायत जतारा के सीईओ शैलेंद्र सिंह ने बताया कि इस मामले की अभी हमारे पास लिखित में शिकायत नहीं आई है शिकायत आने के बाद जांच कराकर निश्चित ही कार्यवाही की जाएगी

टीकमगढ़ ताजा खबर