रिश्वत मामले में पटवारी को सजा

रिश्वत मामले में पटवारी को सजा

टीकमगढ़. रिश्वतखोर पटवारी सहित 1 सहयोगी को विशेष न्यायालय ने सुनाई। सागर लोकायुक्त ने 11 मार्च 2014 को रिश्वत लेते घर से किया था रंगे हाँथ गिरफ्तार। जमीन का नामांतरण और बंदी बनबाने मांगी थी 4 हजार रुपये की रिश्वत। 2 हजार रुपये पहले ले चुका था पटवारी। बाकी के 2 हजार रुपये देने था बाकी। फरियादी विजय अहिरवार ने की थी सागर लोकायुक्त से शिकायत। लोकायुक्त सागर की टीम ने पटवारी मातादीन वंशकार सहित सहयोगी विनोद यादव रिश्वत लेते किया था पटवारी कार्यालय से गिरफ्तार। लंबे समय से न्यायालय में चल रहे इस मामले में विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम टीकमगढ़ द्वारा विशेष पुलिस स्थापना लोकायुक्त संगठन सागर के इस मे आरोपी पटवारी मातादीन वंशकार एवं सहआरोपी विनोद यादव को दोषसिद्ध ठहराते हुये पटवारी को रिश्वत मांगने के अपराध में 4 वर्ष का कारावास 5 हजार रुपये अर्ध्दण्ड और रिश्वत लेने के अपराध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में 5 वर्ष का कारावास एवं 7500 रुपये के अर्थदंड से एवं सहआरोपी विनोद यादव को 4 वर्ष के कारावास और 5000 रुपये अर्थ दंड की सजा सुनाई।

टीकमगढ़ ताजा खबर