बस में लगी आग ,बाल, बाल बचे यात्री

बस में लगी आग ,बाल, बाल बचे यात्री

तीर्थ यात्रियों से भरी लग्जरी बस में भड़की आग
0 बाल-बाल बचे यात्री, बस जलकर हुई खाक

पन्ना। जिला मुख्यालय पन्ना से लगभग 5 किमी दूर सतना-छतरपुर राष्ट्रीय राजमार्ग में स्मृति वन के निकट तीर्थ यात्रियों से भरी एक लग्जरी बस में बीती रात्रि तकरीबन 2 बजे अचानक आग भड़क उठी। रात के सन्नाटे में कई यात्री नींद में थे, लेकिन बस के इंजन से धुंआ उठते देख चालक व परिचालक ने अप्रिय स्थिति निर्मित होने की आशंका को देखते हुये तुरन्त यात्रियों
को जगाया और बिना देरी नेची उतरने को कहा। बस में धुंआ उठते देख यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई और जिसे जहां से भी जगह मिली वह बस से बाहर निकल गया। कुछ यात्रियों ने तो खिड़की का शीशा तोड़कर बस से बाहर कूदकर अपनी जान बचाई। यात्रियों के बाहर निकलते ही बस में आग भड़क उठी और देखते ही देखते पूरी बस जलकर खाक हो गई। जब तक मौके पर फायर बिग्रेड पहुँची तब तक बस का सिर्फ ढाँचा बचा था। इस हादसे में तीर्थ यात्रियों की जान तो बच गई लेकिन उनका सारा सामान आग की भेंट चढ़ गया है।
उल्लेखनीय है कि विजय लक्ष्मी सर्विस इन्दौर की टूरिस्ट बस क्र.एमपी-13पी-2711 महाराष्ट के औरंगाबाद जिले से तीर्थ यात्रियों को लेकर गंगा सागर जा रही थी। इस टूरिस्ट बस में 35 महिलाओं सहित कुल 55 लोग सवार
थे। तीर्थ यात्रियों से भरी यह बस रविवार-सोमवार की दरम्यानी रात्रि लगभग 2 बजे जैसे ही स्मृति वन के पास पहुँची, अचानक बस से धुंआ उठने लगा और कुछ ही क्षणों के भीतर आग भड़क उठी। अप्रत्याशित रूप से घटित हुये इस हादसे के चलते घटना स्थल पर अफरा-तफरी मच गई। इस बस के पीछे आ रही तीर्थ यात्रियों से भरी दूसरी बस के यात्रियों ने जब यह भयावह दृश्य देखा तो उन्होंने तत्काल 100 डायल वाहन को कॉल किया, जिससे कुछ ही देर में पुलिस वाहन व फायर बिगे्रड मौके पर पहुँचकर बस में भड़की आग को बुझाया, तब तक
बस पूरी तरह से जल चुकी थी।

प्रशासन व समाजसेवियों ने की मदद

शहर के निकट स्मृति वन के पास तीर्थ यात्रियों की बस में आग भड़कने की जानकारी होते ही पुलिस प्रशासन ने सक्रियता दिखाते हुये मानवीय संवेदना का परिचय दिया। तीर्थी यात्रियों को रात्रि के समय कड़ाके की ठण्ड में
परेशानी और असुविधा न हो इसके लिये खाना-पानी व कपड़े उपलब्ध कराये गये। पुलिस अधीक्षक पन्ना विवेक सिंह स्वयं व्यवस्थाओं की जानकारी लेने के साथ आवश्यक निर्देश दे रहे थे। हादसे के कुछ ही देर बाद मौके पर पन्ना एमडीएम बी.बी. पाण्डेय मुख्य नगर पालिका अधिकारी अरूण पटेरिया भी पहुँच गये। इन्होंने यात्रियों के लिये तत्काल जरूरी खाद्य सामग्री उपलब्ध
कराई। सुबह होने पर पन्ना शहर के समाजसेवियों व व्यापार मण्डल के लोगों द्वारा उदारता का परिचय देते हुये हादसे का शिकार बने तीर्थ यात्रियों को हरसंभव मदद पहुँचाई गई। कलेक्टर पन्ना मनोज खत्री भी आज मौके पर पहुंचकर तीर्थ यात्रियों से भेंट कर उनके हाल जाने और उनको गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था कराकर उन्हें रवाना कराया।

मड़ला घाटी हादसे की याद हुई ताजा

बीती रात तीर्थ यात्रियों से भरी बस में अचानक आग भड़कने की घटना ने 3 वर्ष पूर्व मई 2015 में मड़ला घाटी बस हादसे की याद ताजा हो गई। इस भयावह
बस हादसे में 22 यात्री जिन्दा जलकर खाक में तब्दील हो गये थे। दिल दहला देने वाला यह हादसा भी इसी मार्ग पर हुआ था। तीन साल गुजर जाने के बाद बीती रात स्मृति वन के पास तीर्थ यात्रियों से भरी बस में जब आग भड़की और वह धू-धूकर जलकर खाक हो गई तो लोगों के जेहन में मड़ला घाटी हादसे की खौफनाक यादें फिर ताजा हो गईं। ईश्वर की कृपा से इस हादसे में सभी तीर्थ
यात्री बाल-बाल बच गये हैं।
00000

ताजा खबर बुन्देलखण्ड