पिता ने मासूम का कर दिया पचास हजार मैं सौदा।

पिता ने मासूम का कर दिया पचास हजार मैं सौदा।

मनीष खरया ।छतरपुर
गरीबी और पिछड़ेपन के कारण बुंदेलखंड में आज बेटियां बेची जाती है हालांकि यह मामले गाहे बगाहे सामने आते हैं इसी प्रकार का एक मामला सामने आया जिसमें नशे के आदी पिता ने अपनी बेटी को ₹50000 में बेच दिया खरीददार ने मंदिर में नाबालिग से जबरन विवाह रचाया और 3 दिन तक दुष्कर्म करता रहा। पीडिता की मां एवं भाई ने घटना के संबंध में एक लिखित आवेदन पुलिस को देकर आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है। पुलिस ने मामले की जांच शुरु कर दी। बसंता बंसकार निवासी ग्राम कुंडल्या थाना भगवां ने योजनाबद्ध तरीके से अपनी 11 वर्षीय बेटी की शादी देवी पिता गनुआ बंसकार (35) निवासी मिडावली थाना बुडेरा जिला टीकमगढ से कर दी। घटना 12 मई की बताई जा रही है, नाबालिग की मां कुसुम ने बताया कि, वह जन्म से अंधी है। पति बसंता ने करीब 20 दिन पहले मेरी व बेटा सूरज बंसकार की मारपीट कर दोनों को घर से निकाल दिया था। इसी दरम्यान पीडित महिला के पति बसंता ने अपनी 11 वर्षीय बेटी का सौदा कर टीकमगढ जिला में बेच दिया। खरीददार ने खरीद फरोख्त को आपसी रजामंदी की शक्ल देने, एक मंदिर में जाकर नाबालिग के गले में मंगलसूत्र एवं मांग में सिंदूर भरकर शादी रचाई। शादी की औपचारिकता के बाद 35 वर्षीय खरीददार जबरन नाबालिग को अपने साथ ले गया। आखिरकार लडकी युवक के साथ रहनें को तैयार नहीं हुई और 3 दिन तक दुष्कर्म करने के पश्चात बुधवार सुबह 10 बजे के आसपास लडकी को वापस ग्राम कुंडल्या छोड गये।

बेटे की शादी के बहाने पत्नि को बुलाया

पति ने अपनी बेटी को 3 गुना उम्र के युवक के साथ शादी रचा दी और परिवार के अन्य सदस्यों को इसकी भनक नहीं लगने दी। बेटा की शादी के बहानें मां को घर बापस बुलाया तो बेटी बदन पर साडी लपेटे और मांग में सिंदूर सजाये मां के सामने खडी थी। पीडित नाबालिग ने रोते हुऐ मां को सारा घटनाक्रम कह सुनाया। कुसुम बाई का कहना है कि, पति से मार खाकर वह अपनी बहिन रतिबाई निवासी लुडयारा थाना शाहगढ जिला सागर के यहाँ पिछले एक माह से रह रही थी। पति ने फोन लगाकर उसे बेटा की शादी के बहाने कुंडलया बुला लिया। शादीशुदा बेटी के मुंह से सारा घटनाक्रम सुनने के बाद मां एवं भाई ने पुलिस थाना जाकर घटना के संबंध में एक लिखित आवेदन देकर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है

ताजा खबर बुन्देलखण्ड