खरगापुर से ही लड़ूंगा चुनाव:_अजय यादव

खरगापुर से ही लड़ूंगा चुनाव:_अजय यादव

अजय यादव का चुनाव लड़ना तय है कल करेंगे दल का ऐलान टीकमगढ़…… जिले की पांचों विधानसभाओं में बीजेपी के प्रत्याशी घोषित होते ही विरोध का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है टीकमगढ़ जिले की खरगापुर विधानसभा से विधायक रहे अजय यादव ने भी अब बीजेपी के खिलाफ जाने का मन बना लिया है अब किस पार्टी या किस बैनर से चुनाव लड़ेंगे अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है अजय यादव ने इस बात की पुष्टि जरूर की है कि वह चुनाव लड़ने जा रहे हैं और किसी भी कीमत पर खरगापुर विधानसभा से चुनाव लड़ेंगे उन्होंने कहा कि वह 8 नवंबर को घोषणा करेंगे कि वह किस दल से चुनाव लड़ेंगे……… राजनीति में उमा भारती लाई थी ………राजनीति में भाजपा से अलग होने के बाद उमा भारती ने जनशक्ति पार्टी का गठन किया था और वर्ष 2008 के विधानसभा चुनाव में उमा भारती ने अजय यादव को अपनी पार्टी का उम्मीदवार बनाकर खरगापुर विधानसभा से चुनाव लड़ाया था और वह विजई हुए थे ………क्या है खरगापुर का गणित…… टीकमगढ़ जिले की विधानसभा में जातिगत आंकड़ों पर नजर डालें यहां पर लोधी और यादव जाति के मतदाता निर्णायक भूमिका में हैं यही वजह है कि वर्ष 2008 में भाजपा के दिग्गज नेता उमा भारती ने अजय यादव को चुनाव लड़ा करके जाति समीकरण के चलते बिजय दिलाई थी लेकिन वर्ष 2013 के चुनाव में उमा भारती ने यहां से अपने भतीजे राहुल सिंह को बीजेपी से टिकट दिलाया था जो कांग्रेस की प्रत्याशी श्रीमती चंदा रानी गौर से लगभग 5 हजारमतों से चुनाव हार गए थे 2018 के चुनाव में भी बीजेपी ने राहुल को अपना प्रत्याशी घोषित किया है इस विधानसभा से जहां कांग्रेस की निवर्तमान विधायक श्रीमती चंदा रानी सुरेंद्र सिंह गौर को प्रत्याशी बनाया है तो वहीं 2008 में चुनाव हारे राहुल लोधी को बीजेपी ने फिर से अपना उम्मीदवार घोषित किया है ऐसे में आस लगाए बैठे पूर्व विधायक अजय यादव अब चुनाव लड़ने के मूड में आ गए हैं अजय यादव के चुनाव लड़ने से बदलेंगे समीकरण यह निश्चित है कि पूर्व विधायक अजय यादव के चुनाव मैदान में आ जाने से इस विधानसभा पर अब तिकोनी संघर्ष होगा वहीं पिछले 5 साल से आमजन के बीच संघर्ष कर रहे प्यारे लाल सोनी भी ताल ठोक रहे हैं

चुनाव 2018 टीकमगढ़ ताजा खबर राजनीति