कलेक्टर की पत्नी बच्चों को दे रही हैं अंग्रेजी की शिक्षा

कलेक्टर की पत्नी बच्चों को दे रही हैं अंग्रेजी की शिक्षा

भूपेंद्र सिंह निवाड़ी mp….जिले की कलेक्टर आशीष भार्गव की पत्नी डॉ सुप्रिया शर्मा (भार्गव) स्वयं ही दतिया मेडिकल कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर पदस्थ हैं अपने व्यस्त समय में से कुछ समय निकालकर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को साकार कर रही है बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए एक सामाजिक आंदोलन  को बढ़ावा देने के लिए जागरुकता अभियान चला रही साथी लोगों की प्रेरणा श्रोत बन रही है वह निवाड़ी जिले के ओरछा
क्षेत्र के ग्राम लाडपुरा की बच्चियों को अंग्रेजी विषय बढ़ाने का कार्य कर रहे हैं श्रीमती सुप्रिया शर्मा यह कार्य निशुल्क वलिका शिक्षा को बढ़ाने कर रही है वह सप्ताह में 3 दिन ग्राम पंचायत भवन लाडपुरा के भवन में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित ज्ञानालय में पहुंचकर ग्राम की बच्चियों को अंग्रेजी विषय की तैयारी करवा रही है जिससे ग्रामीण क्षेत्र की प्रतिभावान बेटियां भी अंग्रेजी विषय में आगे आ सके उनकी इस कार्य की निवाड़ी जिले में काफी प्रशंसा हो रही है जब इस संबंध में डॉ सुप्रिया शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि एक दिन जब उनके पति कलेक्टर आशीष भार्गव ग्रामीण क्षेत्र के दौरे पर गए तो वह भी उनके साथ ग्रामीण क्षेत्र में गई इसी दौरान जब वह ग्राम लाडपुरा के ज्ञानालय भवन भवन
में उनके साथ पहुंची और वहां पर उन्होंने ग्राम की इन बेटियों से बात की तो उन्होंने बताया कि ग्राम से ओरछा या अन्य शहरों की दूरी काफी है और हम लोगों की अंग्रेजी विषय कमजोर है हम लोगों को गांव में ट्यूशन पढ़ाने वाला कोई शिक्षक भी उपलब्ध नहीं है ग्रामीण क्षेत्र होने के कारण यहां स्कूल हिंदी माध्यम से है जिस कारण से हमारी अंग्रेजी काफी कमजोर है और ग्राम की बच्चियां उनसे अंग्रेजी विषय पढ़ने की इच्छा रखी यह बात सुनकर श्रीमती सुप्रिया शर्मा ने काफी प्रोत्साहित हो कर स्वयं ही इन वेटियो को अंग्रेजी विषय पढ़ाने का निर्णय लिया उन्होंने बताया कि इन बच्चियों के अंग्रेजी विषय के पढ़ने की इच्छा को देखकर उन्होंने स्वय अपने व्यस्त समय में से इन वेटियों को देने का निर्णय लिया व सप्ताह में तीन दिवस उन्हें उनके ही गांव की ग्राम पंचायत भवन में स्थापित महिला बाल विकास विभाग के ज्ञानालय में पढ़ाने का निर्णय लिया और वह अब बड़े उत्साह एवं लगन से करीब 2 माह से लगातार इन बच्चियों को अंग्रेजी भाषा की तैयारी करवा रही है जिससे ग्राम की बच्चियां भी फराटे दार अंग्रेजी बोल सकें और वह भी शहरी बच्चों के मुकाबले खड़े हो सकें साथ ही उन्होंने कहा की एक डॉक्टर एवं समाज की जिम्मेदार महिला होने के नाते वह इन बच्चियों को स्वास्थ संबंधी एवं व्यावहारिक शिक्षा भी साथ साथ दे रही हैं जिससे वह बच्चियां स्वाबलंबी और समाज में अपना स्थान बना सकें उनके इस कार्य में महिला वाल विकाश विभाग की सुपरवाइजर शशि कुशवाहा सहयोग कर रही है साथ ही उन्होंने कहा कि उनके इस कार्य से उनके पति कलेक्तर आशीष भार्गव भी काफी प्रसन्न है उनके पति भी मैथ विषय के अच्छे ज्ञाता है और ऑनलाइन के माध्यम से जिले के बच्चों को गणित विषय पढ़ा रहे हैं वह भी प्रति शनिवार को ऑनलाइन के माध्यम से बच्चों की क्लास लेते हैं उनके पति यदि कलेक्टर नहीं होते तो वह भी टीचर ही होते अब कलेक्टर की पत्नी के इस कार्य की संपूर्ण जिले में काफी प्रसन्नता हो रही है तो वही ग्राम की बच्चियां भी काफी खुश है उन्होंने कहा कि उनका मार्ग निर्देशन स्वयं जिले के कलेक्टर की पत्नी कर रही है और धीरे-धीरे उनकी जो अंग्रेजी कमजोर थी वह भी अब ठीक-ठाक होने लगी है वह अंग्रेजी को ठीक तरह से समझने लगती हैं बच्चियों का कहना है कि उनके परिजनों के आर्थिक सामाजिक कारणों के चलते वह उन्हें बाहर नहीं भेज पा रहे थे और शहर की दूरी काफी होने के कारण वह प्रतिदिन शिक्षा के लिए ओरछा या अन्य किसी शहर नहीं जा सकती थी अब उन्हें गांव में ही अंग्रेजी विषय की शिक्षा मिल रही है और वह डॉ प्रिया भार्गव की काफी तारीफ करती हुई दिखी तो वहीं ग्रामीण भी उनकी इस कार्यप्रणाली की काफी तारीफ कर रहे श्रीमती भार्गव बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए पठन-पाठन सामग्री एवं पैन डॉट इत्यादि भी इन बच्चियों को समय-समय पर स्वयं के वैसे उपलब्ध करवाती है

ताजा खबर निवाड़ी