कलेक्टर का आदेश कूड़ादान में? झोलाछाप डॉ की यहाँ चलती हैं सल्तनत

कलेक्टर का आदेश कूड़ादान में? झोलाछाप डॉ की यहाँ चलती हैं सल्तनत

कलेक्टर का आदेश कूड़ेदान में ? टीकमगढ’ जिले के गांव खरो मैं मक्खन लाल राय कई सालों से अपना अवैध क्लीनिक संचालित कर रहा है जहां पर गर्भाधान जैसे कृत्य किए जाते हैं ना तो इस डॉक्टर के पास कोई डिग्री है ना ही है पढ़ा लिखा है इस डॉक्टर की जब ग्रामीणों ने टीकमगढ़ कलेक्टर से 25 मई 18 को शिकायत की तो कलेक्टर ने इस मामले की जांच करने सीएमएचओ टीकमगढ़ को लिखा और कहा कि तत्काल कार्यवाही करें लेकिन टीकमगढ़ कलेक्टर के आदेश को रद्दी की टोकरी में डाल दिया 7 माह के बाद भी आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है इससे सिद्ध होता है कि कहीं ना कहीं इस झोलाछाप डॉक्टर को सीएमएचओ का आर्शीवाद प्राप्त है? ………मक्खन लाल राय की सल्तनत ……जी हां हम सही कह रहे हैं भले ही युवक के पास कोई डिग्री ना हो लेकिन गांव के आसपास इसकी चिकित्सा के क्षेत्र में चलती है और शिकायत के बाद भी कोई भी अधिकारी कार्यवाही नहीं करता है इसके यहां अवैध गर्भाधान जैसे भी खुलेआम किए जाते हैं जब मामले बिगड़ जाते हैं तो उन्हें झांसी भेज देता है जहां से उसे एक मोटा कमीशन मिल जाता है ऐसा एक नहीं क्षेत्र में सैकड़ों मामले आपको देखने को मिल जाएंगे गांव के कैलाश रमेश कहते हैं कि मैंने इसकी शिकायत एक बार नहीं 50 बार की है लेकिन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कोई कार्यवाही नहीं कहते हैं निश्चित ही इस झोलाछाप डॉक्टर पर स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों का संरक्षण है……क्या कहते हैं अधिकारी….…. पूर्व सीएमएचओ डॉ ए के गुप्ता कहते हैं अगर किसी झोलाछाप डॉक्टर की शिकायत मिलती है तो उसके लिए सीएमएचओ कार्यवाही करने के लिए बाध्य है ऐसे मामलों में सीएमएचओ को सख्त कदम उठाते हुए 420 व ड्रग एक्ट के तहत मामला दर्ज कराना चाहिए ।….सीएमएचओ वर्षा रॉय कहती हैं कि मैंने इस मामले में स्वास्थ टीम को गांव भेजा था लेकिन वहां कार्यवाही करने में टीम को दिक्कत आ रही है इसलिए मैंने जतारा एसडीएम को भी लिखा है और मैं इस मामले में एफ आई आर कराने की कोशिश कर रही हूं ……सबसे बड़ा सवाल उठता है कि टीकमगढ़ कलेक्टर के आदेश के 7 माह बाद सीएमएचओ कार्रवाई क्यों नहीं कर रही हैं 7 माह में ना तो उस क्लीनिक को बंद करा सकी और ना ही उसके खिलाफ एफ आई आर। इससे सिद्ध होता है कि कहीं ना कहीं जिले में संचालित हो रहे झोलाछाप डॉक्टरों को अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है

टीकमगढ़ ताजा खबर