ओरछा बना टापू,किसानों की फसलें हुई नष्ट

ओरछा बना टापू,किसानों की फसलें हुई नष्ट

टीकमगढ़( चरण सिंह बुंदेला की खास रिपोर्ट) जिले में 3 दिन से हो रही लगातार बारिश के चलते जहां जगह-जगह पानी भर गया है वही दोनों नदियों के उफान पर आने से विश्व पर्यटन स्थल ओरछा टापू में तब्दील हो गया है जहां 4 घंटे से आवागमन ठप्प है बेतवा नदी में पानी ज्यादा आने से ओरछा का निचला स्तर में पानी भर गया है सतारनदी उफान पर होने के चलते ओरछा का झांसी से संपर्क टूट गया है करीब 5 घंटे होने के बाद भी आवागमन पूर्णता ठप है बेतवा नदी के किनारे बने होटलों को प्रशासन ने खाली करा दिया है और पर्यटकोंं को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया है इसी तरह टीकमगढ़ जिले की बुंदेलखंड पैकेज में बनी हरपुरा माड़िया तालाब जोड़ो जोड़ों में जगह-जगह पुलिया टूटने से किसानों के खेतों में पानी भर गया है जिससे उनकी फसल नष्ट हो गई है जबकि इस परियोजना से मोहनगढ़ क्षेत्र के 13 तालाबों को भरा जाना था लेकिन लेकिन पुलिया टूटने से तालाब भरने की जगह पर पानी खेतों में चला गया है किसान अपनी बर्बादी अपनी आंखों से देख रहा है े गांव ढूंढा में बनी सिंचाई विभाग के तालाब ओवरफ्लो होने से करीब 10 से 12 परिवारों के घरों में पानी भर गया है सिंचाई विभाग द्वारा नहरों की सफाई नहीं की गई जिस कारण से यह समस्या खड़ी हुई है ओवरफ्लो पानी निकालने की जगह सिंचाई विभाग के अधिकारियों द्वारा दो से तीन पुलिया बना दी गई जिसके कारण तलैया में पानी के भरावअधिक होने लगा उसका परिणाम हुआ कि गांव की करीब 12 किसानों की फसलें नष्ट हो गई और घरों में पानी भर गया

टीकमगढ़ ताजा खबर