एक्सक्लूसिव खुलासा:- गोचर की पंद्रह सौ एकड़ जमीन पर अवैध कब्जा

एक्सक्लूसिव खुलासा:- गोचर की पंद्रह सौ एकड़ जमीन पर अवैध कब्जा

चरण सिंह बुंदेला, बड़ागांव धसान(टीकमगढ़)
एक ओर प्रदेश सरकार सड़कों पर घूम रही आवारा गायों को सुरक्षित करने के लिए गांव-गांव में गोशालाएं खोल रही हैं, तो दूसरी ओर नगर सहित आसपास के क्षेत्र से लगी 1500 एकड़ गोचर, राजस्व की भूमि पर अतिक्रमण कर लिया हैं। आलम यह हैं कि क्षेत्र के मवेशियों को चरने के लिए भी जमीन नही बची हैं।
नगर सहित क्षेत्र भर में गोचर के लिए जहां 82 एकड़ जमीन सुरक्षित थी, वहीं बंजर पठार की 1400 एकड़ के लगभग जमीन भी गोचर के लिए दर्ज थी। लेकिन वर्तमान में इस जमीन का कहीं आता-पता नही हैं। इस पूरी जमीन पर जहां कुछ जगहों पर लोगों ने कच्चे-पक्के मकान बनाकर अतिक्रमण कर लिया हैं, वहीं अधिकांश जमीन को लोगों ने अपने खेतों के साथ बागड़ लगाकर खेती कर अतिक्रमण कर रखा हैं। गोचर की जमीन पर अतिक्रमण होने के कारण ही वर्तमान में मवेशियों को चरने के लिए जगह नही बची हुई हैं। इस जमीन पर अतिक्रमण होने के कारण पशु पालक किसानों के साथ ही अन्य लोग भी परेशान हैं। आलम यह हैं कि क्षेत्र का पूरा गोवंश इन दिनों सड़कों पर दिखाई दे रहा हैं।
अधिकारियों की मिलीभगत: गोचर जमीन पर हुए इस अतिक्रमण में राजस्व विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से इंकार नही किया जा सकता हैं। लोगों का कहना हैं कि थोड़ी-बहुत जमीन पर अतिक्रमण हो, तो चलता हैं। लेकिन रिकार्ड में दर्ज जब 1500 एकड़ के लगभग जमीन होने के बाद भी मवेशियों को चरने के लिए जगह नहीं हैं, ऐसे में इसकी जानकारी विभाग को न होना समझ से परे हैं। लोगों का कहना हैं कि यह पूरा अतिक्रमण राजस्व विभाग की मिलीभगत से ही किया गया हैं।
नही होती कारवाई: इस संबंध में लोगों का कहना हैं कि कई बार इस अतिक्रमण की राजस्व अधिकारियों को सूचना दी गई। लेकिन कोई कारवाई नही की गई। नगर के बल्लू यादव, अंशु प्रसाद यादव, रज्जू पटेल एवं नंदू रैकवार का कहना हैं कि गोचर सहित अन्य शासकीय जमीन पर लोगों ने कब्जा कर रखा हैं। यदि यह जमीन अतिक्रमण मुक्त करा दी जाए तो मवेशियों को चरनोई की जगह मिल जाएगी। लेकिन इस संबंध में कोई कारवाई नही की जा रही हैं।
कहते है अधिकारी: अतिक्रमणकारियों की रिपोर्ट मांगी गई हैं। रिपोर्ट आने के बाद ही अतिक्रमणकारियों के खिलाफ कारवाई की जाएगी। इस अतिक्रमण को शक्ति के साथ हटाया जाएगा।- एमपी उदैनिया, तहसीलदार, बड़ागांव धसान।

टीकमगढ़ ताजा खबर