Views: 85

1 सप्ताह में दो मासूम लापता डीआईजी ने कहा पुलिस कर रही है मामले की गंभीरता से जांच

मोंटी बर्मा निवाड़ी ।जिले में 1 सप्ताह में दो मासूम हुए लापता पुलिस चैन की बंसी बजाने में मशगूल लापता हुए मासूमों के परिजनों का रो रो कर बुरा हाल एक भी मामले में पुलिस को नहीं मिली सफलता 25 जून की दोपहर निवाड़ी की जैन मोहल्ले के बाजार समोसे खरीदने के लिए निकला बालक का कोई सुराग नहीं लगा है निवाड़ी पुलिस थाने में इसकी शिकायत की गई है जिस पर पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर ली है इसी तरह 17 जून को लुहारगुवा गांव से 8 वर्षीय बालिका लापता हो गई थी जिसका आज तक पुलिस सुराग नहीं लगा सकी है जबकि आरोपियों की सूचना देने पर छतरपुर डीआईजी ने ₹20000 का इनाम भी घोषित कर रखा है निवाड़ी से लापता हुए मासूम के पिता नितिन रावत कहते हैं कि उनका बालक कक्षा छठवीं का छात्र था जो बाजार में समोसे खरीदने गया था इसके बाद वह लौटकर के घर नहीं आया पिछले 7 साल से नितिन रावत निवाड़ी में रहकर के बच्चों की पढ़ाई कर रहे हैं जबकि वह झांसी जनपद के कर गुआ गांव के रहने वाले हैं मासूम के पिता नितिन कहते हैं कि बच्चे की जानकारी टैक्सी में बैठने तक की लग रही है और वह बालक टैक्सी में बैठकर की रेलवे स्टेशन गया है लेकिन ए पता नहीं चल रहा है कि उसको कौन लोग लेकर के गए हैं ……… बच्चा अपहरण गिरोह की आशंका…?…. लापता हुए इन दो मासूमों के मामले में परिजन जहां किसी तरह की रंजिश से इनकार कर रहे हैं तो वही किसी गिरोह की आशंका भी जताई जा रही है कि निवाड़ी में कोई ऐसा गिरोह सक्रियतो नहीं है जो बच्चों का अपहरण करता हो इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता है क्या कहते हैं जिम्मेदार अधिकारी…………. छतरपुर डीआईजी अनिल माहेश्वरी कहते हैं कि दोनों मामलों में पुलिस गंभीरता से लगी हुई है नाबालिक के लापता होने में करीब 150 लोगों के बयान लिए जा चुके हैं और आरोपियों की जानकारी देने वाले को ₹20000 इनाम की घोषणा की गई है वही नाबालिक निवाड़ी से लापता हुए मामले में डीआईजी छतरपुर अनिल माहेश्वरी कहते हैं कि इस मामले में हम लगातार नजर बनाए हुए हैं नाबालिक की लास्ट लोकेशन एक ऑटो में जाते हुए दिख रहा है उसी आधार पर हम बच्चे की तलाश कर रहे हैं और इस मामले में आगे बढ़ रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *