पंकज मिश्रा- चित्रकूट में आतंक का पर्याय बने साढ़े 6 लाख के इनामी डकैत बबली कोल व डेढ़ लाख से ज्यादा का इनामी डकैत लवलेश कोल को मध्य प्रदेश पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है । मध्य प्रदेश के सतना जिले धारकुंडी थाना क्षेत्र के लेदरी के जंगल में पुलिस को सूचना मिली थी कि दस्यु डकैत बबली कोल अपने आधा दर्जन साथियों के साथ जंगल में है तभी मध्य प्रदेश पुलिस ने इनामी डकैत को घेर लिया और दोनों तरफ से फायरिंग हो गई जिसमें इनामी डकैत बबली कोल हो और लवलेश कोल को गोली लग गई जिसमें दोनों की ही मौके पर मौत हो गई और बाकी डकैत मौके से फरार हो गए दोनों डकैत के पास से खाने-पीने की सामग्री और दो हथियार बरामद हुए हैं सर्चिंग के दौरान इनामी डकैत बबली कोल और लवलेश कोल के शवों को बरामद कर लिया है । इनामी डकैत बबली कोल पर 100 से ज्यादा लूट हत्या जैसे अपराधिक मामले दर्ज थे इनामी डकैत बबली कोल पर यूपी सरकार ने 5:30 लाख का इनाम घोषित कर रखा था और मध्य प्रदेश सरकार ने 100000 का इनाम घोषित कर रखा था व लवलेश कोल पर यूपी सरकार ने एक लाख का नाम घोषित किया था और मध्य प्रदेश की तरफ से 80000का इनाम घोषित किया था । दोनों डकैत के मारे जाने के बाद मध्य प्रदेश पुलिस को एक बहुत बड़ी कामयाबी हासिल हुई है । इनामी डकैत बबली कोल ने हाल ही में चित्रकूट से 5 सितंबर को मध्यप्रदेश के सतना जिले के धारकुंडी से एक व्यक्ति का अपहरण किया था जिसमें 5000000 की फिरौती मांगी थी इसमें चित्रकूट से 5 लाख की फिरौती लेकर छोड़ा था जिसके बाद से लगातार मध्य प्रदेश की पुलिस इनामी डकैत बबली कोल के पीछे पड़ी हुई थी जो आज मध्य प्रदेश पुलिस को सफलता हासिल हुई है और चित्रकूट पुलिस सोती रही वही मध्य प्रदेश पुलिस के आईजी चंचल शेखर का कहना है कि दोनों डकैत के मारे जाने पर मध्य प्रदेश पुलिस को बहुत बड़ी कामयाबी हासिल हुई है क्योंकि यह इनामी डकैत बबली कोल और लवलेश कोल का आतंक दोनों राज्यों पर था और इन दोनों का नेटवर्क बहुत तेज था इनामी डकैत बबली कोल के लिए लोग काम करने के लिए अपना गर्व महसूस करते थे इस ऑपरेशन को एसपी सतना के नेतृत्व में किया गया है और कैसे किया गया है एसपी सतना ही आगे इसको बताएंगे । सुने रीवा

आई जी का बयान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here