Views: 129

सड़क पर मजदूर प्रशासन के दावे फेल

बाल किशन प्रजापति जतारा (टीकमगढ़)
दिल्ली से श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन के द्वारा टीकमगढ़ लाए गए प्रवासी श्रमिकों को घर तक छोड़ने के लिए प्रशासन के द्वारा भले ही यात्री बसों की व्यवस्था कर पहुंचाने की बात कही जा रही है ।लेकिन इन दावों की पोल खुल रही है और सड़क पर छोटे-छोटे मासूम बच्चों को लो पैदल चलने को तपती धूप में मजबूरी है एक ऐसा ही नजारा देखने को मिला है जहां मजदूरों को उनके घर पहुंचाने की बजाय यात्री बस के द्वारा तीस किलोमीटर पहले ही छोड़ कर यात्री बस रवाना हो गई।
बताते चलें कि
प्रशासन के दावों की खुल गई पोल।
जबकि
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा भले ही प्रशासनिक अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं की प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक भिजवाने की व्यवस्था की जाने की बात कही जा रही है ।लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशों पर टीकमगढ़ जिले का प्रशासन औपचारिकता निभा रहा है और आए दिन सड़क सड़क पर आज भी अपने घरों तक पहुंचने के लिए पैदल छोटे-छोटे मासूम बच्चों को लेकर सफर तय कर रहे हैं।
दिल्ली से आए मैं द्वारा गांव के प्रवासी श्रमिक राजू रजक ने बताया कि दिल्ली से तो वह है श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन से टीकमगढ़ आ गया और टीकमगढ़ से वह अपनी पत्नी व दो मासूम बच्चों के साथ जतारा आ गया जिसे मैं द्वारा गांव जाना था जो जतारा से 30 किलोमीटर दूर मैदवारा गांव जाना है ।लेकिन जतारा में ही श्रमिकों को लेकर आई यात्री बस उसे छोड़कर रवाना हो गई इसी प्रकार चंदेरा निवासी नंदराम अहिरवार ने बताया कि उसे 15 किलोमीटर दूर चंदेरा गांव जाना था लेकिन जतारा में ही यात्री बस के द्वारा छोड़ दिया गया अब यहां से कोई साधन प्रशासन के द्वारा उपलब्ध नहीं कराया गया ना कोई वाहन मिल रहा है ऐसी स्थिति में वह छोटे-छोटे मासूम बच्चों को लेकर सड़क पर तपती धूप में चंदेरा के लिए पैदल रवाना हुआ जबकि प्रशासन के द्वारा दावे किए जा रहे हैं कि हम श्रमिकों को सड़क पर पैदल नहीं चलने देंगे बाहर से आने वाले श्रमिकों को उनके घर तक वाहन से भिजवाने की व्यवस्था की गई है। लेकिन इन दावों की पोल टीकमगढ़ जिले में खुल रही है ।आज भी तपती धूप में छोटे-छोटे मासूम बच्चों के साथ से भटकते नजर आ रहे हैं।
स्थानीय प्रशासन के अधिकारी भी इस मामले में पूरी तरह श्रमिकों की समस्या को नजरअंदाज किए हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *