Views: 79

वीरपुरा हवाई फायरिंग कांड :_7 दिन बाद भी नहीं सुलझा पाई पुलिस?

भानु बुंदेला चंदेरा (टीकमगढ़ )घटना के 7 दिन बाद ही पुलिस नहीं सुलझा पाई हवाई फायरिंग की घटना गांव में एक परिवार को टारगेट करके करीब 50 राउंड गोलियां चलाने का लगाया था आरोप पीड़ित द्वारा इसकी सूचना पुलिस को दी गई थी एवं साक्ष्य प्रस्तुत किए गए थे लेकिन पुलिस की अलग ही कहानी है थाना प्रभारी कहते हैं की कोई साक्ष्य नहीं है जिसमें गोली चलने की घटना की पुष्टि होती है टीकमगढ़ जिले के पुलिस थाना चंदेरा का गांव वीरपुरा आपसी रंजिश के लिए चर्चित रहा है ……क्या है घटना ……बीते 3 अगस्त की रात्रि को यहां पर , वीरपुर गांव के रहने वाले श्रीपद यादव ने पुलिस को आवेदन देते हुए आरोप लगाया था की घर पर दो गाड़ियों में आए लोगों ने हवाई फायरिंग कर के दहशत फैलाई थी सीपत यादव का आरोप है कि इन लोगों ने करीब 50 राउंड गोलियां चलाई थी जाते समय लोग कार और मोटरसाइकिल तोड़ गए थे घटना के तुरंत बाद सीपत यादव द्वारा संबंधित थाने और पुलिस अधिकारियों को मोबाइल पर सूचित भी किया गया था इसके बाद हंड्रेड डायल गांव में पहुंची थी वह हंड्रेड डायल में बैठकर पीड़ित थाना चंदेरा में गांव के ही लोगों के खिलाफ आवेदन दिया था आरोप लगाया था कि इन लोगों ने मेरे घर आकर के गोलियां चलाई दहशत फैलाई घटना के 8 दिन बाद भी अभी पुलिस ने किसी के विरुद्ध मामला दर्ज नहीं किया है ……क्या कहते हैं थाना प्रभारी चंदेरा…… पुलिस थाना प्रभारी मनीष सिंघल कहते हैं की घटना की सूचना पीड़ित द्वारा पुलिस थाने में दी गई थी मौका स्थल पर मायना भी किया गया था लेकिन ऐसी कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं जिसमें घटना की पुष्टि होती हो सिंघल का कहना था कि पंचायत चुनाव नजदीक आ रहे हैं इसी को टारगेट करके झूठी रिपोर्ट की गई है मामला को जांच में लिया गया है ……दोनों पक्षों में पुरानी रंजिश चल रही है ………आरोपी पक्ष के विजेंद्र सिंह यादव कहते हैं कि मेरे पापा की हत्या में इन लोगों की सजा आजीवन हो चुकी थी अब यह मामला हाई कोर्ट में ट्रायल पर हैं जिसमें पीड़ित पक्ष को लगता है की हाईकोर्ट से कहीं सजा जाना पड़ जाए इसलिए इन लोगों ने ए झूठा षडयंत्र रचा है जिससे कि बृजेंद्र लग जाए हाईकोर्ट में पैरवी न कर सके इन लोगों के ऊपर एक नहीं दो दो हत्याओं के मामले में सजायाफ्ता है इसलिए ए लोग झूठे षड्यंत्र रचते रहते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *