यह कैसा नसबंदी शिविर ?

.टीकमगढ जिला अस्पताल में चल रहे नसबंदी शिविर के दौरान देखने को मिली भारी अनियमितताये। दूर दराज से शिविर में आई महिलाओ को मिलने वाला चाय, नास्ता, भोजन, ओढ़ने ओर बिछाने के कपड़े किराये से कपड़े लेकर 3 दिन से रह रहे मरीज, होटलो से मंगा रहे चाय और खाना, साथ ही भर्ती बार्ड में 3 दिन से नही हुई सफाई, गंदगी से बीमार हो रही महिलाये, खर्चे के नाम पर डाले जाते है लाखो रुपये के बिल।
.मामला टीकमगढ़ जिला में पिछले 3 दिनों से नशबंदी शिविर का आयोजन किया गया है लेकिन इस शिविर में जिला अस्पताल प्रवंधन की लापरवाहियों का अंबार लगा है। एलटीटी सर्जन न होने के चलते मिनी लैब सर्जरी के माध्यम से महिलाओं की नशबंदी कराई जा रही है। इस सर्जरी के बाद मरीजों को 3 दिन तक अस्पताल प्रबंधन की निगरानी में भर्ती रहना पड़ता है जिस में नियमानुसार मरीजों को सुबह चाय नास्ता कुछ समय बाद दूध, खाने में 4 रोटी सामान्य सब्जी और शाम को चाय रात में भोजन दिया जाता है लेकिन हमेसा चर्चाओं में रहने बाले जिला अस्पताल में मरीजों को मिलने बाली कोई सुविधा का लाभ मात्र कागजों में ही देखने को नजर आता है। मरीजों के परिजनों का आरोप है की उन को जिला अस्पताल द्वारा चाय नास्ता दूध खाना 3 दिन बीत जाने के बाद भी नही दिया गया बो खुद होटल से खरीद कर अपने मरीजों को दे रहे हैं। साथ ही सर्दी के मौसम में मरीजों को जोड़ने के लिये कंबल भी खुद लाना पड़े हैं।
.स्वास्थ्य विभाग के लिये सरकार भले ही भारी भरकम बजट बेहतर से बेहतर सुविधा मरीजों को दिए जाने के लिये खर्च कर रही है लेकिन धरातल पर कुछ नजर नही आता है महक कागजों में खाना पूर्ती की जाती है। स्वच्छ भारत का सही नजारा आप जिला अस्पताल के उन वार्डों में देख देखने को मिला जहां ये मरीज भर्ती हैं जहां गंदगी का अंबार लगा हुआ है 3 दिनों से उन वार्डों की सफाई भी नही की गई है। और स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों का कहना है मुझ को इस बारे में कोई जानकारी नही है।
..जहां एक तरफ जिला अस्पताल में राष्ट्रीय स्तर का शिविर आयोजित किया जा रहा है उसी स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों को अस्पताल प्रवंधन के कार्यों की जानकारी भी नही है मीडिया द्वारा जानकारी मिलने के बाद प्रभारी cmho ने वार्ड का निरीक्षण किया जहां स्थिति जस की तस थी वार्ड में गंदगी देख नाराजगी व्यक्त की और महज खानापूर्ति कर सिविल सर्जन को बेहतर सुविधा मरीजों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *