महेश अवस्थी,हमीरपुर। सजायाफ्ता अशोक चन्देल ने निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर फिल्मी स्टाइल में अदालत में समर्पण किया । उनके आगे पुलिस बेबस व लाचार दिखी। चित्रकूट परिक्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए विधिक कार्यवाही के आदेश दिये। थाना कोतवाली सदर हमीरपुर में दर्ज मुकदमा धारा 147 , 148 , 149 , 397 , 302 , 34 , 39 ,5 ता हि बनाम अशोक सिंह चन्देल सदर विधाय में उच्च न्यायालय प्रयागराज ने दोषी मानते हुए 19 अप्रैल को आजीवन कारावास की सजा सुनायी थी जिसमें 6 मई को जारी गैरजमानती वारण्ट के क्रम में आज तीन अभियुक्तों , उत्तम सिंह , प्रदीप सिंह और साहब सिंह को गिरफ्तार किया गया जबकि शेष 5 अभियुक्तों ने अदालत में समर्पण किया । सबसे पहले नसीम फिर भान सिंह ने अदालत में समर्पण किया था। अशोक चन्देल , रघुवीर सिंह , आशुतोष सिंह उर्फ डब्बू सिंह , ने झामे के साथ समर्पण किया । इस मामले में झण्डू सिंह की मौत हो चुकी है। पर्याप्त संख्या में पुलिस बल के साथ मजिस्टेªटों की डयूटी लगायी गयी थी । आचार संहिता का न तो पालन हुआ और न ही अदालत के उस आदेश का जिसमें उनकी गिरफ्तारी के आदेश दिये गये थे। धारा 144 लगी होने के बाद भी बड़ी संख्या में उनके समर्थक हमीरपुर मुख्यालय पहुंच गये और वे अदालत परिसर और उसके अन्दर बड़ी संख्या में मौजूद थे। सामूहिक हत्याकाण्ड के दोषी 5 लोगों ने अदालत मंे समर्पण किया था। पुलिस ने विधायक और अन्य आरोपियों को पकड़ने की जहमत नहीं उठायी । पूरे शहर में जबरदस्त नाकेबन्दी की गयी थी । पुलिस के साथ पी ए सी भी लगायी गयी थी मगर पुलिस की गिरफ्तारी के अरमान धरे के धरे रह गये । धारा 144 की धज्जियां उड़ी ।
समर्थकों के कारण हाइवे में लगा जाम
हमीरपुर जिले की अदालत में अशोक चन्देल के समर्पण की सूचना पर उनके हजारों समर्थक अपने अपने वाहनों से हमीरपुर के लिए रवाना हुए जिसके चलते नेशनल हाइवे में जाम लगना शुरू हो गया जो धीरे धीरे सुमेरपुर से सजेती तक लग गया । परिणामस्वरूप एम्बुलेन्स , रोडवेज बस और छोटे वाहनों के अलावा बड़ी संख्या में बालू के ट्रक भी जाम में फंसे रहे । पुलिस ने लाठियां ठोंकना शुरू की तो धीर
अशोक चन्देल जाम को देखते हुए गजनेर से मूसानगर और मनकी के रास्ते से हमीरपुर पहुुंचा । दो गाड़ियों में विधायक लिखा हुआ था जिसमें अशोक चन्देल और 5 उनके साथी बैठे थे। दूसरी गाड़ी कोंच के पूर्व विधायक की बतायी जा रही है। पुलिस यमुना पुल , बेतवा पुल और कुरारा मार्ग में चन्देल की गिरफ्तारी के लिए भारी पुलिस बल लगाया था मगर सबको धता बताते हुए अशोक अदालत मंें पहुंचने में सफल रहा । अशोक के समर्थकों का हुजूम देखकर यह नहंी लग रहा था कि वो समर्पण करने जा रहा है बल्कि लग रहा था कि नामांकन कराने आये हैं। और पुलिस की बेबसी देखिए कि उसने एक भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पायी जब तक कि वे लोग सरेण्डर करने घर से निकलकर अदालत नहीं पहुंच गये । कुछ भी हो पूरे दिन चन्देल के अदालत में समर्पण की चर्चा रही ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here