सुनील रिछारिया हरपालपुर (छतरपुर) नगर में इंजीनियरिंग का छात्र संदिग्ध परिस्थितियों में प्रेमिका के घर के सामने मरणासन्न हालत में मिला। एंबुलेंस द्वारा उसे इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। ग्वालियर ले जाते समय उसकी मौत हो गई मृतक के परिजनों ने प्रेमिका के परिजनोंपर हत्या करने का आरोप लगाया है। …… मृतक के पास से मिले सोसाइड नोट में प्रेमिका के परिजनों द्वारा दी जा रही जान से मारने की धमकी से परेशान होकर आत्महत्या करने का आरोप लगाया है। ……… नौगांव के मेला ग्राउंड के सामने निवासी शिवम गुप्ता पिता विनोद गुप्ता स्थानीय पॉलिटेक्निक कॉलेज में द्वितीय वर्ष का छात्र है। उसके साथ में हरपालपुर की रहने वाली छात्रा से काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों आए दिन मिलते थे। इसकी भनक लगने पर छात्रा के परिजनों द्वारा 30 अगस्त को दोनों को एक साथ पकड़ लिया और इस दौरान छात्रा के परिजनों के साथ आए लोगों ने शिवम के साथ मारपीट की और नौगांव थाना पहुंचकर शिवम के खिलाफ शिकायत की जिसपर पुलिस ने 376 सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया था। इसके बाद मंगलवार को शिवम और उसके माता-पिता छात्रा के घर पहुंचे और माफी मांगी थी। मृतक के पिता का कहना है कि बुधवार को टेस्ट होने के बजह से शिवम ने सुबह 3 बजे जगाने के लिए कहा था। तो सुबह करीब 3 बजे उसे जगाने के लिए गया और आवाजें लगाईं, लेकिन अत्तर नहीं मिला। इसी दौरान हरपालपुर से जानकारी मिली कि उनका पुत्र मरणासन्न हालत में पड़ा है। जिसपर उसे स्वास्थ्य केंद्र हरपालपुर लाए जहां से जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया। लेकिन परिजनों द्वारा मिशन अस्पताल ले गए जहां पर मना कर दिया तो परिजन उसे जिला अस्पताल लाए। तो जिला अस्पताल से मेडिकल कॉलेज ग्वालियर के लिए रेफर कर दिया गया। लेकिन रास्ते में मऊसहानियां के पास उसकी मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों शव को लेकर घर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी गई। वहीं मृतक के पिता का कहना है कि पुलिस द्वारा उसके बयानों के आधार पर रिपोर्ट दर्ज नहीं की सुने हरपालपुर टी आई दिलीप पांडे का बयान
…………

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here