पूर्व प्रधान अपहरण हत्याकांड…… प्रत्यक्ष दर्शी का सनसनीखेज खुलासा जिंदा में काटे गए थे पैर……… टीकमगढ़ एमपी ……उत्तर प्रदेश के जनपद झांसी के पुलिस थाना टहरौली के गांव बघेरा के रहने वाले राजेश पटेल की टीकमगढ़ जिले के पुलिस थाना बल्देवगढ़ के बैद्यपुर के जंगल से कटी हुई लाश पुलिस ने बरामद की थी ……क्या है पूरा मामला…… उत्तर प्रदेश के झांसी जनपद के रहने वाले पूर्व प्रधान राजेश पटेल टहरौली पुलिस थाने के गांव बघेरा के रहने वाले थे जिनका गांव से ही 2 अप्रैल को अपहरण हो गया था और उनकी लाश 8 अप्रैल को टीकमगढ़ जिले के जंगल से पुलिस ने बरामद की थी इस घटना के प्रत्यक्षदर्शी रहे बेदपुर निवासी धरमदास ने आज मीडिया के सामने खुलासा किया है धर्मदास का कहना है कि वह 2 अप्रैल की दोपहर 12:00 बजे अपने परिवार के साथ फसल की कटाई कर रहा था तभी गांव के 4 लोग कुवा पर आ गए और बोले की पानी पिला इसके बाद वे लोग वहीं बैठ कर के चारों लोगों ने मेरी कुए पर शराब पी इसके बाद उन्होंने धर्मदास से बोला की मेरे दो रिश्तेदार आ रहे हैं इसके बाद चारों लोग दिगौड़ा गए और 2 लोगों को लेकर के आ गए और साथ में दारू और अंडे लाए इन सभी लोगों ने मिलकर के मेरे कुएं पर शराब पी और अंडे खाए जो 2 लोग आए थे उसमें एक मृतक था और दूसरे का नाम माते करके बुला रहे थे गांव के ही उदय ने बताया कि शराब में जहर मिला दिया है शराब पीने के बाद मृतक बेहोश हो गया और करीब शाम 6:00 बजे तक मेरे कुएं पर बेहोशी हालत में पड़ा रहा जब उसको होश आया तो उसे जीप में डालकर कर के जंगल की ओर ले गए और मुझे धमका कर के साथ में बैठा लिया तब तक उसे होश आ गया था मृतक ने जब उससे पूछा कि मुझे कहां लाए हो तो इन लोगों ने जवाब दिया कि हम आपको ओरछा के जंगल में है और घर छोड़ने जा रहे हैं इसके बाद और लेट गया तभी बघेरा का मोस्ट वांटेड चरण पटेल आ गया सबसे पहले इन लोगों ने मृतक के फांसी लगाई जबकि मुहारा गाव का रब्बी उसकी छाती पर खड़ा हो गया दोनों तरफ से खीचने के दौरान रस्सी टूट गई तब तक वह जिंदा था इसके बाद इन सभी लोगों ने पेट्रोल डालकर उसके चेहरे पर आग लगा दी उस समय वह फड़फड़ा रहा था इसके बाद कुल्हाड़ी से उसके पैर काटे जैसे ही धर्मदास ने देखा तो वह भागने लगा तो उन लोगों ने एक इसके ऊपर कट्टा लगा दिया उस समय रात के 12:00 बज चुके थे इसके बाद सभी आरोपियों ने पुनः पाल के कुए पर आए और दारू पी और धमकी देकर के चले गए…… धर्मदास का कहना है कि इस घटना के में मेरे परिवार के 3 सदस्यों को उत्तर प्रदेश पुलिस पकड़ कर ले गई है जो कि निर्दोष हैं क्योंकि इस पूरे घटनाक्रम को बघेरा के साथ साथ वैद्य पुर के लोगों ने घटना को अंजाम दिया है इस पूरे घटनाक्रम को मैंने अपनी आंखों से देखा है क्या कहते हैं अधिकारी …….झांसी के एडिशनल एसपी का कहना है कि मामला विवेचना में लिया गया है मामला जो तथ्य सामने आएंगे उस हिसाब से कार्रवाई की जाएगी….…… टीकमगढ़ एसडीओपी कहते हैं कि यह मामला उत्तर प्रदेश का है और इसकी विवेचना उत्तर प्रदेश पुलिस कर रही है उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा जो सहयोग हमसे मांगा गया था वह हमने दिया है पूरी कार्यवाही यूपी पुलिस को करना है इसमें हम कुछ नहीं कर सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here