नगर पंचायत अध्यक्ष पर मामला दर्ज,खाकी और खादी के गठजोड़ से चलता था बिस्फोट का अबैध कारोबार

..टीकमगढ़ जिले के बड़ागांव धसान में नगर परिषद अध्यक्ष रामचरण कुम्हार के घर में हुआ बिस्फोट। अध्यक्ष रामचरन के पुत्र सहित एक अन्य गंभीर रूप से हुये घायल। घायलों को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बड़ागांव से टीकमगढ़ जिला अस्पताल किया गया रिफर। रिहायसी इलाके में बने नगर परिषद अध्यक्ष के घर में चलता था अवैध रूप बिस्फोटक समग्री बनाने का कारोबार। पहले भी पटाखे बनाते समय हो चुका है घर में बिस्फोट।
सुबह तकरीबन 8 बजे का समय था जब जोरदार धमाके की आबाज सुन कर मोहल्लेबासी चोंक गये और जब बाहर आकर देखा तो नगर परिषद अध्यक्ष के घर में बिस्फोट होने की सूचना लगी। बिस्फोट इतना जोरदार था कि घर की दिबारों में दरार पड़ गई और खून से लथपत युवक को बाहर निकाला गया। घर के अंदर पटाखे बनाने का कारोबार चल रहा था तभी यह बिस्फोट हुआ। सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घर को सील कर दिया। और जांच के लिये सागर से बम निरोधक दस्ते को जांच के लिये बुलाया गया है। अगर यह बिस्फोट बड़ा होता तो निषिचित तोैर पड़ा हादसे का रूप ले सकता था। इस घटना में घायल पुत्र और कारीगर का इलाज जारी है ……अवैध धंधे में शामिल थी खाकी और खादी ……?सूत्रों की माने तो नगर पंचायत अध्यक्ष पिछले 5 साल से इस धंधे से जुड़ा हुआ था और उसको संरक्षण मिलता था स्थानीय पुलिस का सूत्रों का कहना है कि इसका लाइसेंस करीब 4 महीने पहले एक्सपायर हो गया था लेकिन अवैध पटाखे बनाने का इसका कारोबार बदस्तूर जारी था खुद नगर पंचायत अध्यक्ष होने के साथ-साथ इस को स्थानीय स्तर पर पुलिस का खुला संरक्षण था सूत्रों की माने तो एक मोटी रकम बड़ागांव पुलिस थाने को जाती थी जिससे अवैध पटाखे बनाने का व्यापार चलता था ………भयानक विस्फोट ……
बड़ा हादसा होने से टला अगर इस बिस्कुट की चर्चा करें सबसे बड़ी बात यह है विस्फोट के समय दरार खा गई हैं इतना जबरदस्त की आस पास के मकान हिल गए हैं क्या कहते हैं……. अधिकारी ………जिले के एसपी सुरेंद्र कुमार जैन कहते हैं जांच के बाद नगर पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ विस्फोटक अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है और मामले की जांच की जा रही है….पत्रकार को अंदर जाने से रोका…….बिस्फोट के बाद कवरेज करने गए पत्रकार चरण सिंह को अंदर जाने से रोका, पुलिस को डर था कि पूरा मामला खुल जाएगा, क्यो की पहले सिलेंडर फटने की बात फैलाई गई थी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *