डोन करेगा टाइगर रिजर्व की सुरक्षा ।

ड्रोन से पन्ना टाइगर रिर्जव की निगरानी का सफल प्रयोग शुरू 

बिदेशी टेक्नाॅलाॅजी का प्रथम प्रयोग

 मध्यप्रदेश के पहले टाइगर रिर्जव मे शुरू हुआ प्रयोग 

पन्ना mpबाधो तथा वन्य-प्राणियो की निगरानी के लिये डव्लूआईआई के  सहयोग से भारत मे पहली बार मानब रहित रिमोट कंटोल से संचालित ड्रोन के माध्यम से प्रायौगिक प्रयास शुरू कर दिया गया है बाइल्ड लाईफ इंस्टीटीयूड आॅफ इंडिया के  संयोजन मे यह कार्य पन्ना मे किया जा रहा है भारत के उदयन विभाग से  अनुमति के बाद पन्ना मे यह विमान उडाये गये लगभग 40 किलोमीटर का लाइव वीडियो देता है जिसमे उच्च क्षमता के नाइट बिजन कैमरे भी लगे हुये है और 2 अन्य छोटे ड्रोन उडाये जा रहे है यह ड्रोन 50 किलोमीटर प्रति ध्ंाटा की गति से उडकर आॅटो पाॅयलट होने के कारण उसी स्थान पर बापस आ जाता है दुनिया की सर्वेक्षेष्ठ टेक्नाॅलाॅजी का वन्य प्राणियो के संरक्षण मे प्रयोग किया जायेगा 

– इसके लिये डव्लूआईआई के 2 प्रशिक्षक पन्ना पहुॅचकर ड्रोन का सफल प्रयोग कर रहे है टाइगर रिर्जव प्रबंधन को उम्मीद है कि इससे अच्छे परिणाम सामने आयेगे और यह मध्यप्रदेश का पहला प्रयोग इस टाइगर रिर्जव मे किया जा रहा है 

– पन्ना टाइगर रिर्जब एक समय बाध विहीन हो गया था और फिरबाधो को बसाने टाइगर रिलोकेशन प्रांे्रगा्रम चलाया जा रहा है जिसमे बाधो की संख्या बढ रही है और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के लिये नई टेक्नाॅलाॅजी का प्रयोग कर शिकार रोकने मे मदद मिलेगी 

टाइगर के जीवन मे पैदा हो रहे खतरे और शिकारियो के नित-नये प्रयासो पर अंकुश लगाने कम खर्चे पर अच्छी सुरक्षा ड्रोन के माध्यम से की जा सकती है लेकिन हालाकि इस तरह के कारगार प्रयोग देश के पहले टाइगर रिर्जव मे हो रहे है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *