डेढ़ करोड़ रुपए के घोटाले में बड़े अधिकारियों पर मेहरबान प्रशासन

जतारा (टीकमगढ)

जनपद पंचायत जतारा में जो घोटाला हुआ है उसकी राशि अब एक करोड़ से भी ऊपर पहुंच गई है लेकिन ताज्जुब की बात यह है की इसमें जहां छोटे कर्मचारियों और हितग्राहियों पर एफ आई आर दर्ज कर मामले को दबाया जा रहा है ।
तो वही सीईओ आनंद शुक्ला के खिलाफ अब तक कोई कार्यवाही न होने से बड़े अधिकारी भी चर्चा में बने हुए है तो वही घोटाले की जांच प्रभावित होने की आशंका बनी हुई है,। जनपद पंचायत जतारा कार्यालय के एकल खाता क्रमांक 111255085176 से लगातार फर्जी तरीके से राशि भेजी गई,जिसमे 48 लाख रुपये के गबन की बात सामने आने पर थाना जतारा में जनपद के लेखापाल सहित 21 लोगों पर एफ आई आर दर्ज भी की गई लेकिन बड़े अधिकारी आज भी कार्यवाही से बचे हुए हैं सवाल यह है ।
कि सीईओ आनंद शुक्ला के कार्यकाल में सितम्बर 2020 की तारीख 21,22,23,24 में भी लाखो रुपये फर्जी तरीके से कई व्यक्तियों के खाते में डाले गए इसमें जहाँ सीईओ आनंद शुक्ला का कहना है कि उनके फर्जी हस्ताक्षर कर पत्र बैंक भेजा गया तो वही बैंक मैनेजर का कहना है कि उनके यहाँ कुछ भी गलत नही हुआ,खबर यह भी है कि सितम्बर 2020 में लगभग 30 लाख रुपये से ज्यादा की राशि फर्जी तरीके से ट्रांसफर कर दी गई तो फिर आखिर छोटे कर्मचारियों पर कार्रवाई होने और जनपद पंचायत सीईओ पर कार्रवाई न होने से घोटाले की जांच प्रभावित होने की आशंका बनी हुई है, प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले से गठित जांच टीम के अनुसार जनपद पंचायत में अब तक 1 करोड़ 59 लाख 45 हजार रुपये का घोटाला हुआ है तो फिर बड़े अधिकारियों पर कार्रवाई करने से आखिर कौन बच रहा है। मामले में अब बड़े अधिकारियों पर कोई कार्यवाही ना होने से तरह-तरह की चर्चाएं व्याप्त है ।
खबर यह भी है कि अधिकारी जहां अपने आप को बचाने के लिए भोपाल और सागर के लगातार चक्कर लगा रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर स्थानीय लोग भी इस मामले को दबाने में जुटे हुए हैं लोगों ने कमिश्नर से मामले में तत्काल कार्रवाई की मांग की है।

क्या कहते कलेक्टर

इस संबंध में कलेक्टर टीकमगढ सुभाष कुमार द्विवेदी ने बताया कि जतारा जनपद में हुए घोटाले के मामले को मैं दिखाता हूं पूरा मामला मेरे संज्ञान में है।

क्या कहते जिला पंचायत सीईओ
जिला पंचायत सीईओ स्वदेश कुमार मालवी ने बताया कि मैं अभी बीसी में हूं जतारा जनपद में हुए घोटाले के संबंध में हम से बेहतर जतारा जनपद सीईओ ही बता सकते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *