Views: 278

जतारा प्रशासन आज भी मानता है कमलनाथ को मुख्यमंत्री?

बाल किशन प्रजापति जतारा( टीकमगढ)
प्रदेश में सरकार बदले हुए भले ही दो माह से अधिक का समय बीत चुका है लेकिन जतारा के सरकारी विभागों के अंदर और बाहर आज भी मुख्यमंत्री कमलनाथ मध्यप्रदेश के नाम के कोडिंग बैनर पोस्टर लगे हुए हैं जिससे लगता है कि जतारा में पदस्थ अधिकारी कर्मचारी दो माह बाद भी अपनी मानसिकता नहीं बदल पाए कुछ ऐसा ही नजारा जतारा के तहसील कार्यालय के बाहर एवं जतारा तहसीलदार की सरकारी निवास के बाहर जनपद पंचायत जतारा के अंदर बाहर मुख्यमंत्री कमलनाथ के बैनर पोस्टर लगे हुए हैं इसके अलावा विद्युत मंडल के दफ्तर में भी या पोस्टर लगा हुआ था लेकिन मीडिया के सामने मामला आने के बाद वहां के अधिकारियों ने हटा लिया है।
इस संबंध में भारतीय जनता युवा मोर्चा के भरत अग्रवाल ने आरोप लगाते हुए बताया कि
भले ही कांग्रेस पार्टी की सरकार नहीं है और यह सरकार गिरे हुए बीते दो माह से अधिक का समय बीत चुका है लेकिन जतारा के कई ऐसे सरकारी विभाग है जहां के अधिकारी कर्मचारी अपनी कांग्रेसी मानसिकता कायम रखे हुए हैं सरकारी दफ्तर में आज भी शिवराज सिंह चौहान की जगह विभाग के दफ्तर में कमलनाथ मुख्यमंत्री होने के बैनर पोस्टर फोटो लगाए हुए हैं। जिस को भाजपा ने अधिकारी कर्मचारियों की कांग्रेसी मानसिकता प्रतीक होने का आरोप लगाया है । भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने मोर्चा खोल लिया है इस संबंध में भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के भरत अग्रवाल ने यह भी बताया कि मध्यप्रदेश में भले ही सत्ता परिवर्तन हो चुका है भारतीय जनता पार्टी की सरकार है लेकिन जतारा में पदस्थ सरकारी विभागों के अधिकारी-कर्मचारी आज भी अपने विभागों में कांग्रेश पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बैनर पोस्टर फोटो अपने दफ्तर में लगाए हुए हैं उन्होंने आरोप
लगाया कि तहसील कार्यालय जतारा तहसीलदार का सरकारी आवास जनपद पंचायत कार्यालय के बाहर एवं विद्युत विभाग के कनिष्ठ अभियंता आज भी कमलनाथ को मानते हैं अपना मुख्यमंत्री मानते हैं
भाजपा युवा मोर्चा के मंडल महामंत्री भरत अग्रवाल ने इस पर आपत्ति जताते हुए कहा अभी तक कमलनाथ को अपना मुख्यमंत्री संबंधित विभागों के मंत्री मानकर अपने आफिस में उनके पोस्टर लगाए हुए हैं, ऐसे अधिकारियों पर भाजपा युवा मोर्चा के महामंत्री भरत अग्रवाल ने कार्यवाही की मांग की।
जिससे साफ जाहिर होता है।
कि यहां पर पदस्थ अधिकारी कर्मचारियों की मानसिकता आज भी बदली नहीं है तभी तो वह बदले की भावना से जतारा में अगर कोई व्यक्ति धोखे से किसी काम को लेकर सरकारी दफ्तर या अधिकारी के पास पहुंचता है तो यह अधिकारी उनको भगवा रंग की चोली आया कपड़े देखकर भड़क जाते हैं ।
ऐसे अधिकारियों को हटाए जाने और उनके खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं के द्वारा की जा रही है।
क्या कहते पूर्व मंत्री
इस संबंध में मध्य प्रदेश शासन के पूर्व मंत्री व जतारा विधायक हरिशंकर खटीक में बताया कि अधिकारियों की यह मानसिकता ठीक नहीं है प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हो चुका है ऐसी स्थिति में अधिकारियों को अपने दफ्तरों में केवल माननीय महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की फोटो या उनकी योजनाओं के फोटो लगाना चाहिए अधिकारी अपनी मानसिकता बदलें और जनता के काम करें अगर अधिकारियों ने अपनी मानसिकता नहीं बदली तो इस मामले को लेकर माननीय मुख्यमंत्री जी को भी अवगत कराया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *