Views: 156

कोरोना के चलते टमाटर की खेती पर संकट के बादल

दुर्गेश शिवहरे छतरपुर- एक तरफ covid 19 की वजह से देश की अर्थव्यवस्था पर खासा फर्क पड़ा हे लेकिन वही बुन्देलखण्ड के किसान की आजीवका पर अब संकट के काले बदल से छा गये ,हम बात कर रहे बुन्देलखण्ड के उन किसानो की जो अपनी आजीविका को चलने के टमाटर की खेती करते अब लॉकडाउन की वजह से किसान अपने खेतो से टमाटर तोड़ कर  मंडियों में बेचने भी नहीं जा पा  रहा खेत में लगा टमाटर ज्यादा पकने की वजह से टूट क्र खेत में गिर जाता हे और सड़ रहा हे ,जिससे मंडी में रहे टमाटरों में काफी कमी आई। 

यह मामला हे मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले का जहाँ आज किसान अपनी किस्मत पर रोता दिख रहा है ,एक तरफ लॉक डाउन की वजह से किसानो का टमाटर मंडी व् अन्य राज्यों में नहीं जा पा रहा जिससे किसानो के खेत में लगे टमाटर ख़राब होने लगे अगर किसानो की माने तो उन्होंने बताया हे की टमाटर मंडी न पहुंच पाने की वजह से सारा टमाटर खराब हो रहा हे जो बचा खुचा वह  भी खराब होने की स्थिति में किसानो ने बताया जब भी मंडी टमाटर लेकर जाते तो गाँव की सीमाओं में तैनात पुलिस द्वारा रोक लगा दी जाती अब किसान करे तो करे क्या।

वही इस मामले में जिला कलेक्टर द्वारा बताया गया की किसानो को छूट दी गई हे लॉकडाउन जैसी स्थिति में एक दिन छोड़ एक दिन बाजार खोले जा रहे हे अगर सीमावर्ती राज्यों में जो टमाटर बेचने के लिये जाते अगर उनको दिक्कत आ रही हे तो वहाँ के डीएम से बात क्र उस समस्या का निराकण किया जायेगा हाल ही में कुछ किसान सामने आये थे जिनकी समस्या का तुरंत निराकरण किया गया था। 

-बुन्देलखण्ड का अन्नदाता आज बहुत परेशान हे अगर किसान बेचारा मंडी में टमाटर या और कुछ लाता हे तो पुलिस प्रशासन द्वारा आसपास के इलाको में खपत करने की सलह उनको दे दी जाती हे और किसान अपना टमाटर वापिस आपने घर ले जाता चुकी अगर मंडी या अन्य राज्यों में वह अपना टमाटर ले जाता तो अच्छा खासा पैसा मिल जाता था मगर आज किसान रो रहा लोकडाउन होने को 1 माह हे आप अन्दाज़ा लगा सकते हे किसान को कितना नुकसान हो रहा ,       

   
 

       

     

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *