दुर्गेश शिवहरे छतरपुर। एसपी कार्यालय में आत्महत्या करने वाले युवक की इलाज के दौरान हुई मौत जिले में सनसनी खेज मामला सामने आया है जहाँ एक युवक ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने पेट्रोल डालकर आग लगा ली और आग लगते ही ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मी आग बुझाने के प्रयास करते रहे मगर जब आग बुझी जब तक कन्हैया अग्रवाल 90% झुलस चुका था और फिर पुलिस द्वारा आनन फानन में जिला अस्पताल लेजाया गया जहाँ डॉक्टरों ने कन्हैया की हालत नाजुक बताई और फिर ईलाज दौरान मौत हो गई वही मौत से पहले कन्हैया अग्रवाल ने बताया कि मुझे अमन महराज नाम के व्यक्ति द्वारा झूठी रिपोर्ट कर मुझे फसाया जा रहा कि तुमने मेरी मोटरसाइकिल चुराई है जबकि में मोटरसाइकिल चला भी नही पता अब वह मुझसे पैसे की मांग कर रहे थे जिसकी जांच के लिये शनिवार को शिकायती आवेदन भी दिया मगर कोई सुनवाई नही हुई पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने पेट्रोल डाल कर आग लगा ली वही पुलिस ने मामले को गंभीर देख आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर आरोपी अमन दुबे को देर शाम गिरफ्तार कर लिया बड़ा सवाल ये है कि समय रहते शिकायत निराकरण किया होता तो आज कन्हैया की मौत न हुई होती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here